Class 8th third language Hindi Test book Solution

मिर्च-मसाला – 8 वीं कक्षा की तीसरी भाषा हिंदी पाठ्यपुस्तक प्रश्नावली

 

 मिर्च-मसाला

I. एक वाक्य में उत्तर लिखिए :

1.एक दिन भोलू क्या कर रहा था?
उत्तरःएक दिन शाम को भोलू आँगन में बैठकर दूध पी रहा था।
2.दूध कहाँ फैल गया,?
उत्तरःदूध ज़मीन पर फैल गया।
3.दूध में उसको क्या दिखाई दिये ?
उत्तरः दूध में उसको दो पंख दिखाई दिये ।

4.हीरा किसे न पचा पायी ?
उत्तरःभोलू ने दूध में पंख की बात बता दी, हीरा इस बात को पचा न पायी।
5.चंपा ने किसको देखते ही सारी बातें उगल दी?
उत्तरः चंपा ने अपनी सहेली चमेली को देखते ही उसने सारी बात उगल दी।
6.चमेली ने चंपा से क्या कहा ?
उत्तरः चमेली ने चंपा से पूरा कबूतर । कबूतर तो इतना बड़ा पक्षी है। खाया कैसे होगा? कहा ।
7.दूर-दूर से लोग क्यों आने लगे?
उत्तरः यह चमत्कार देखने के लिए दूर-दूर से लोग आने लगे।
8.बेचारा भोलू ने भयभीत होकर क्या किया?
उत्तरः बेचारा भोलू ने भयभीत होकर किसी एक पेड़ पर छिप गया था।

II. दो-तीन वाक्यों में उत्तर लिखिए ।

1.भोलू क्यों घबरा गया?
उत्तरः एक दिन शाम को भोलू आँगन में बैठकर दूध पी रहा था। उसे खाँसी आयी, दूध का लोटा लुढ़क गया तथा थोड़ा-सा दूध मुँह से निकलकर ज़मीन पर फैल गया। फैले दूध में उसको दो पंख दिखाई दिये। बह घबरा गया।
2.हीरा ने चंपा से क्या कहा?
उत्तरः हीरा ने चंपा से कहा – एक राज़ की बात है। जानती हो आज क्या हुआ हो आज क्या हुआ। उनके मुँह से कबूतर के पंख निकले, बहुत सारे मुझे चिंता हो रही है। पर किसीसे मत कहना

3.चमेली से चंपा ने भोलू के बारे में क्या कहा ?
उत्तरः चंपा ने चमेली से कहा कि आज भोलू जी को खाँसी आयी और उनके मुँह से एक पूरा कबूतर निकला। कहने से पहले उसने चमेली से वादा करवा लिया कि वह किसी से यह बात नहीं कहेगी।

4.शाम तक गाँव में कौन-सी खबर फैल गयी?
उत्तरः शाम तक गाँव में खबर फैल गयी कि भोलू के मुँह से झुंड के झुंड कबूतर, कौए, गोरैये, मुर्गे यहाँ तक कि कई आकार के रंगीन पक्षी, विदेशों के पक्षी भी निकल रहें है और इन पक्षियों से आकाश भर गया है।

III. विलोम शब्द लिखिए
उदा : ज़मीन x आसमान
जाना x आना
बहुत x कम
विश्वास x अविश्वास
बड़ा x छोटा
गाँव x शहर
 विदेश x देश

IV. अन्य वचन रूप लिखिए :
उदा : दिन – दिन
पंख – पंख
घर – घर
पेट – पेट
लोग – लोग
कबूतर- कबूतर
पक्षी – पक्षियाँ
पेड़ – पेड़
गाँव – गाँव
उदा : कौआ-कौए
कौवा, कौवे
गोरैया – गौरैये
मुर्गा – मुर्गे
बेचारा – बेचाराएँ
वादा – वादें
सूचना : कुछ शब्द सदैव एकवचन में प्रयुक्त होते हैं ।
जैसे : पानी, वायु, अग्नि, भूमि, आकाश आदि ।
V. रिक्त स्थान की पूर्ति कीजिए :
1.भोलू ने अपनी पत्नी …… से कहा । (हीरा)
2.भोलू ने ……… में पंख की बात बता दी ।(हीरा)
3.हीरा का पेट ……… लगा ।(फूलने)
4.लोग बात का ……… बना देंगे ।(बतंगड़)
5.चंपा ने अपनी सहेली ……… से सारी बात उगल दी।(चमेली)
6.गाँव में खबर फैल गयी कि पक्षियों से ……… भर गया ।(आकाश)
VI. इन पक्षियों के नाम कन्नड अथवा अंग्रेज़ी में लिखिए ।
photo
VII. इन वाक्यों में छिपे पक्षियों का नाम हूँढकर लिखिए :
उदा : अब तो ताजा फल खा लो।।
अब   तो   ताजा   फल   खा   लो। = तोता
1. तुमको यलहंका जाना होगा । (कोयल)
2. जब गुलाब देखती हैं, तब खुशी होती है। (बगुला)
3. तुम मृगालय में घूमो रमेश। (मोर)
VIII. निवास स्थानों को जानिए :
1.आदमी – ‘घर, मकान
2.पक्षी-घोंसला
3.बकरी – बाड़
4.घोड़ा – अस्तबल, घुड़साल
5.साँप-बां
6.चूहा-बिल
7.साँप-बांबी
8.सिंह-गुफा
IX. सार्थक वाक्य बनाइए :

1. कहूँगी कसम नहीं से किसीसे ।
उत्तर : कसम से किसीसे नहीं कहूँगी ।
2. गया न से रहा चंपा
उत्तर :चंपा से रहा न गया ।
3. आज आयी खाँसी को भोलूजी
उत्तर : भोलूजी को आज खाँसी आयी ।
4.आने लोग चमत्कार यह देखने लगे।
उत्तर यह चमत्कार देखने लोग आने लगे ।

X. इनके चलने का तरीका बताइए :
(फुदक, भाग, रेंग, तैर, उड़)
उदा : आदमी ज़मीन पर चलते हैं
1.मछली पानी में तैरते है ।
2.साँप ज़मीन पर रेंगते हैं ।
3.जानवर चार पैरों से भागते हैं।
4.पक्षी पंखों के सहारे उड़ते हैं ।5.मेंढक फुदकते हुए आगे बढ़ते हैं ।
XI. देखें आप कोयल के बारे में कितना जानत हैं :
कोयल एक ………. है। (पक्षी)
उसका रंग ………. होता है । (काला)
वह ………. जैसे ही दिखायी देती है । (कौए)
वह मीठे स्वर से ………. है। (गाती)
वह केवल ………. ऋतु में गाती है। (वसंत)।
वह अपने ………. कौए के घोंसलों में देती है। (अंडा)
केवल ………. से हम कोयल तथा कौए में अंतर कर सकते हैं। (ध्वनि)
भाषा ज्ञान
1. संज्ञा

इन वाक्यों को पदिए और रेखांकित शब्दों की ओर ध्यान दीजिए।
1. एक दिन भोलू आँगन में बैठा था।
2. उसकी पत्नी का नाम हीरा था।
3. हीरा को चिंता हो रही थी।
4. दूध का लोटा लुढ़क गया।
5. गाँव में खबर फैल गयी।
6. भोलू की घबराहट देखकर लोगों को समझ आया।
उपर्युक्त वाक्यों में रेखांकित शब्द किसी व्यक्ति, भाव का परिचय दे रहे हैं।
किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान तथा भाव के नाम को ‘संज्ञा’ कहते हैं।
 photo
कुछ अन्य उदाहरण :
1. दीपक, प्रिया, नित्या सब बचपन के दोस्त हैं।
2. ये एक ही विद्यालय के छात्र हैं।
3. इन सबमें गहरी मित्रता है।
4. इन्हें पुस्तकों से प्रेम है।।
5. देश की सेना हमेशा तैयार रहती है।
6. तांबे के लोटे का पानी सेहतमंद होता है।
 photo
2. मुहावरा
सामान्य अर्थ के बदले में विशेष अर्थ देनेवाले वाक्यांश मुहावरे कहलाते हैं। मुहावरों का अर्थ समझिए :
1. राई का पहाड़ बनाना – छोटी-सी बात को बड़ा बनाना
2. आग बबूला होना – अत्यंत क्रोधित होना
3. बाएँ हाथ का खेल – अधिक आसान
4. बालू से तेल निकालना – असाध्य को साध्य बनाना
5. नौ दो ग्यारह होना इधर-उधर भाग जाना
6. बात का बतंगड़ बनाना – बात को बढ़ा-चढ़ाकर बोलना
मिर्च-मसाला पाठ का सारांश:
यह एक लोककथा है जो राज़ की बात का तिल का ताड़ या राई का पहाड़ बनने पर प्रकाश डालती है। एक दिन भोलू दूध पी रहा था तभी उसे खाँसी आ गयी। थोड़ा-सा दूध मुँह से निकलकर जमीन पर फैल गया। फैले दूध में उसे दो पंख दिखाई दिये। यह बात किसी को न बताने की शर्त पर उसने अपनी पत्नी को बताई। पत्नी इसे छुपा नहीं पाई। उसने पड़ोसन चंपा को बताया – उनके मुँह से कबूतर के पंख निकले। चंपा से भी रहा न गया।
उसने सहेली चमेली को बताया – ‘भोलू जी के मुँह से कबूतर निकला। चमेली को विश्वास नहीं हुआ। बात आग की तरह चारों तरफ फैल गयी। किसी ने कहा, भोलू के मुँह से झुंड के झुंड कबूतर, कौए, गोरैये, मुर्गे आदि निकल रहे हैं। किसी ने कहा विदेशी पक्षी भी निकल रहे हैं। यह चमत्कार देखने दूर-दूर से लोग आने लगे। भोलू डरकर एक पेड़ पर छिप गया। लोगो ने उसे ढूंढ निकाला। उसकी घबराहट से लगा कि किसी को रहस्य की बात बताने से पहले सोचना चाहिए। लोग नमक मिर्च लगाकर उसे बड़ा कर देते हैं।
 
ಮೆಣಸಿನ ಕಾಯಿ ಮಸಾಲಾ ಕನ್ನಡದಲ್ಲಿ ಸಾರಾಂಶ:

ಹಾಗಾಗಿ ಮನುಷ್ಯ ತನ್ನ ವಿಚಾರಗಳನ್ನು ಬೇರೆಯವರ ಜೊತೆ ಹೇಳಿಕೊಳ್ಳುತ್ತಾನೆ .ಆದರೆ ಅದು ಗಮನದಲ್ಲಿಟ್ಟುಕೊಂಡು ಒಬ್ಬ ಪದ್ದನಂತೆ ಮಾತು ಹೇಳುವ ಮೊದಲು ಜಾಗರೂಕತೆಯಿಂದ ಇರಬೇಕು. ಒಂದು ದಿನ ಸಾಯಂಕಾಲ ಬೋಲೋ ಅಂಗಡಿದಲ್ಲಿ ಕುಳಿತು ಹಾಲು ಕುಡಿಯುತ್ತಿದ್ದನು. ಅವನಿಗೆ ನೆಗಡಿ ಬಂದಿತು. ಹಾಗಾಗಿ ಲೋಟ ನೆಲಕ್ಕೆ ಬಿತ್ತು, ಮತ್ತು ಸ್ವಲ್ಪ ಹಾಲು, ಬಾಯಿಯಿಂದ ಹೊರ ಬಂತು ನೆಲದ ಮೇಲೆ ಹರಡಿತು. ಹರಡಿದ ಹಾಲಿನಲ್ಲಿ ಎರಡು ರೆಕ್ಕೆಗಳು ಕಾಣಿಸಿತು. ಅವನ್ನು ಭಯಭೀತನಾದ ಆಗ ಅವನು ತನ್ನ ಹೆಂಡತಿ ಹೀರೊಗೆ ಕರೆದು ಹೇಳಿದನು. ನೋಡು ನೀನು ಯಾರ ಬಳಿ ಏಳುವುದಿಲ್ಲ ಅಂದರೆ ನಾನು ನಿನಗೆ ಒಂದು ಮಾತು ಹೇಳುತ್ತೇನೆ. ಪ್ರಮಾಣ ಮಾಡಿ ಯಾರಿಗೂ ಹೇಳುವುದಿಲ್ಲ ಎಂದು ಪತ್ನಿ ಹೇಳಿದ್ದಳು.

ಬೋಲೋ ಹಾಲಿನಲ್ಲಿ ಕಾಣಿಸಿದ ರೆಖ್ಯಾ ವಿಚಾರ ಹೇಳಿದನು. ಈ ರಾಗೆ ಈ ಮಾತನ್ನು ಜೇನಿಸಿಕೊಳ್ಳಲಾಗದೆ ಅವಳು ಹೊಟ್ಟೆ ತುಂಬಾ ಆನಂದ ತುಂಬಿದ ಕಾರಣ ತನ್ನ ಮನೆಯ ಪಕ್ಕದಲ್ಲಿ ಚಂಪಾಗಿ ಹೇಳಿದಳು. ಒಂದು ರಹಸ್ಯದ ಮಾತು ಇದೆ ಗೊತ್ತಾಯ್ತಾ. ಈ ದಿನ ಏನು ಆಯಿತು ಅವನ ಬಾಯಿಯಿಂದ ಪಾರಿವಾಳದ ರೆಕ್ಕೆ ಬಂದಿತು. ಬಹಳ ಹೆಚ್ಚಾಗಿ ನನಗೆ ಚಿಂತೆಯಾಯಿತು. ಆದರೆ ಯಾರ ಬಳಿ ಹೇಳಬಾರದು ಚಂಪ ಹೇಳಿದಳು. ನೀನು ಯಾರ ಬಳಿ ಹೇಳಬಾರದು. ಎಲ್ಲರೂ ಮಾತುಗಳ ರಗಳೆ ಮಾಡುವರು ಎಂದಳು .ಚಂಪಾಗ ಇರಲಾಗದೆ ಅವಳಿಗೆ ಅನಿಸಿತು.

ಮತ್ತು ಅಕಸ್ಮಾತಾಗಿ ಈ ಮಾತು ಯಾರಿಗಾದರೂ ಹೇಳುತ್ತಿದ್ದಾರೆ .ಅವಳ ಹೊಟ್ಟೆ ಹೊಡೆದು ಹೋಗುತ್ತಿತ್ತು. ಅವನ ತನ್ನ ಸ್ನೇಹಿತನಾದ ಚಮೇಲ್ ಗೆ ನೋಡಿದ್ದ ತಕ್ಷಣ ಎಲ್ಲಾ ವಿಚಾರವನ್ನು ತಿಳಿಸಿದಳು. ಯಾವುದಕ್ಕೆ ಮೊದಲ ಚಮ್ಮೇಲಿ ಜೊತೆ ವಾದ ಮಾಡಿದಳು .ನಂತರ ಚಂಪಾ ಹೇಳಿದಳು ನೋಡಿದ್ದೀಯಾ? ಬೋಲಾಜಿಗೆ ಈ ದಿನ ನೆಗಡಿ ಬಂದಿದೆ .ಇಲ್ಲಿಯವರೆಗೆ ಹಳ್ಳಿಯಲ್ಲಿ ವಿಚಾರ ಹರಡಿ ಬಿಟ್ಟಿತು. ಯಾರೋ ಬಂದುವಿನ ಬಣ್ಣದ ಶಕ್ತಿ ವಿದೇಶದ ಪಕ್ಷಿಯು ಸೋಲುವಿನ ಬಾಯಿಂದ ಬರುತ್ತದೆ. ಮತ್ತು ಈ ಪಕ್ಷಿಗಳು ಬಂದು ಆಕಾಶ ಆಕಾರದಲ್ಲಿ ತುಂಬಿ ಹೋಗಿದೆ .ಸಾಸಿವೆಗಳ ಬೆಟ್ಟದಂತೆ ಆಗಿದೆ ಎಂದುಕೊಂಡರು. ಇಂತಹ ವಿಸ್ಮಯವನ್ನು ನೋಡಲು ದೂರ ದೂರದಿಂದ ಎಲ್ಲರೂ ಬರುತ್ತಿದ್ದರು. ಬಡಪಾಯಿ ಬೋಳು ಬಾಯ ಭಯದಿಂದ ಒಂದು ಮರದ ಮೇಲೆ ಅವಿದುಕೊಂಡನು. ಸ್ವಲ್ಪ ಸಮಯದ ನಂತರ ಎಲ್ಲರೂ ಅವನನ್ನು ಹುಡುಕಿದರು. ಆದರೆ ಅವನ ಭಯಗೊಂಡಿರುವುದರಿಂದ ಯಾವುದೇ ರಹಸ್ಯವನ್ನು ಹೇಳುವ ಮೊದಲು 10 ಬಾರಿ ಯೋಚಿಸಬೇಕಾಗಿದೆ.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button